yojana

  • Mar 4 2019 5:11PM

कृषि यंत्र के लिए महिला समूहों को मिलते हैं दो लाख रुपये

कृषि यंत्र के लिए महिला समूहों को मिलते हैं दो लाख रुपये

पंचायतनामा डेस्क

कृषि क्षेत्र में महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के उद्देश्य से उन्हें आर्थिक सहायता दी जाती हैइसके लिए विभिन्न योजनाएं चलायी जा रही है, जिसका लाभ लेकर महिलाएं उन्नत खेती कर सकती हैं. महिला समूहों को इस योजना का लाभ मिलता है. इसके तहत उन्नत कृषि यंत्र के लिए महिला समूहों को दो लाख की राशि दी जाती है. कृषक मित्र या प्रखंड कार्यालय से संपर्क कर इस योजना का लाभ उठाया जा सकता है.

योजना का नाम : महिला स्वयं सहायता समूहों के लिए कृषि यांत्रिकीकरण प्रोत्साहन योजना

योजना का प्रकार : राज्य योजना

उद्देश्य
महिला स्वयं सहायता समूहों को कृषि उपकरण बैंक उपलब्ध कराना, ताकि महिलाएं कृषि के क्षेत्र में बेहतर कर स्वावलंबी बन सकें.

कौन ले सकता है योजना का लाभ
महिला स्वयं सहायता समूह, जिसमें कम से कम 10-12 सदस्यों हों.

दो लाख रुपये की मदद
महिला स्वयं सहायता समूहों को छोटे कृषि उपकरण के लिए दो लाख रुपये उनके बैंक खाते में उपलब्ध कराया जाता है, ताकि समूह द्वारा छोटे लेकिन उपयोगी कृषि यंत्र जैसे पावर टीलर, रोटरी टीलर, सीड ट्रीटमेंट ड्रम, फर्टीलाइजर ब्रॉडकास्टर, फोर रॉ पैडी ड्रम सीडर, टू रॉ राइस ट्रांसप्लांटर, पैडल ऑपरेटेड पैडी थ्रेसर, राइस हॉलर, मिनी दाल मिल, हैंड स्प्रेयर, पावर ऑपरेटेड स्प्रेयर, मिनी ऑयल एक्सप्लोरर, सेल्फ प्रोपेल्ड रिपर, 1.5-2.0 एचपी पंपसेट के साथ 200 फीट एचडीपीई 63 एमएम पाइप इत्यादि में से अपनी आवश्यकतानुसार यंत्र खरीद सकें या भाड़े पर उपलब्ध करा सकें.

कहां संपर्क करें

इस योजना का लाभ उठाने के लिए महिला लाभुक कृषक मित्र/ प्रखंड विकास पदाधिकारी/जिला भूमि संरक्षण पदाधिकारी/ गठित जिला स्तरीय समिति/ जिला भूमि संरक्षण कार्यालय से संपर्क किया जा सकता है