yojana

  • May 4 2019 5:51PM

विधवाओं के लिए भीमराव अंबेडकर आवास योजना

विधवाओं के लिए भीमराव अंबेडकर आवास योजना

संविधान निर्माता डॉ भीमराव अंबेडकर की 125वीं जयंती के मौके पर 14 अप्रैल, 2016 को भीमराव अंबेडकर आवास योजना की शुरुआत झारखंड में हुई. इसके तहत हर विधवा महिला को आवास उपलब्ध कराया जा रहा है.

भीमराव अंबेडकर आवास योजना
राज्य के मुख्यमंत्री ने विधवाओं के लिए भीमराव अंबेडकर आवास योजना की शुरुआत की है. इस योजना के तहत पहाड़ी क्षेत्रों में एक घर बनाने के लिए 75,000 और मैदानी क्षेत्रों में 70,000 रुपये विधवाओं को वित्तीय सहायता के रूप में दी जाती है.

उद्देश्य
इस योजना के लागू करने का उद्देश्य विधवाओं को पति की मृत्यु के बाद अपनी जिंदगी आसान बनाने के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करना है. इसके जरिये विधवाओं को घर की सुविधा दी जा रही है. यह वित्तीय सहायता समाज में समानता और सामंजस्य स्थापित करने में अहम भूमिका अदा कर रही है.

खाता में राशि
इस योजना के लाभार्थियों को उनके बैंक खातों में सीधे राशि भेज दी जाती है. इस राशि को तीन किस्तों में वितरित की जाती है. जीवन को आसान बनाने के लिए सभी पात्र विधवा महिलाओं को सहायता दी जाती है.

पात्रता
इस योजना के लाभुक को झारखंड का निवासी होना चाहिए. विधवा महिलाएं इस योजना की पात्र मानी जायेंगी. 30 साल से अधिक आयु वर्ग की आवासविहीन विधवा मुखिया परिवार को लाभ मिलेगा, जिनका एक कमरे का कच्चा घर हो. आवेदक की मासिक आय 5000 रुपये से अधिक नहीं होनी चाहिए. सामाजिक व आर्थिक जाति आधारित जनगणना, 2011 के आधार पर वरीयता के अनुसार लाभुकों को चिह्नित कर लाभ दिया जाना है.

आवेदन के लिए जरूरी कागजात
आधार कार्ड
स्थानीय निवासी प्रमाण पत्र
पति की मृत्यु का प्रमाण पत्र
बैंक खाता विवरण
पासपोर्ट साइज फोटो

ऐसे करें आवेदन
योजना के तहत आवेदन करने के लिए आवेदक अपने पंचायत क्षेत्र के मुखिया, प्रखंड कार्यालय या जिला कार्यालय से संपर्क कर सकती है. विस्तृत जानकारी के लिए वेबसाइट http://www.jharkhand.gov.in/ पर भी क्लिक कर पूरी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं.