gram savraj

  • Jan 17 2020 4:12PM

स्कूल व स्वास्थ्य केंद्र की तर्ज पर काम करेंगे मॉडल आंगनबाड़ी केंद्र

स्कूल व स्वास्थ्य केंद्र की तर्ज पर काम करेंगे मॉडल आंगनबाड़ी केंद्र

जगरनाथ
जिला: गुमला 

गुमला जिले की 22 पंचायतों में 22 आंगनबाड़ी केंद्रों को मॉडल केंद्र बनाया जा रहा है. इसके लिए जिला समाज कल्याण पदाधिकारी की ओर से प्रक्रिया शुरू कर दी गयी है. हर प्रखंड से दो-दो पंचायतों का चयन किया गया है. जहां के एक-एक आंगनबाड़ी केंद्र को मॉडल बनाया जायेगा. मॉडल आंगनबाड़ी केंद्र में सभी प्रकार की सुविधाएं होंगी. यहां बच्चों की पढ़ाई के अलावा किशोरियों व गर्भवती महिलाओं को पौष्टिक पोषाहार और स्वास्थ्य संबंधी जानकारी दी जायेगी. जिन आंगनबाड़ी केंद्रों को मॉडल बनाया जायेगा, उनमें गुमला प्रखंड में तेलगांव व टोटो, पालकोट में ओरबेंगा दीपाटोली व धोबी टोली, कामडारा में गरई व कुदा खास, डुमरी में करमटोली व डुमरी, चैनपुर में टोंगो व चैनपुर पूर्वी, भरनो में अमलिया तेतरटोली व परसाटोली, बिशुनपुर में चिपरी व चिंगरी, सिसई में नागफेनी बाजार टांड़ व पुनाटोली, रायडीह में सिलम व कोठाटोली, बसिया में कोनवीर खास व सोमर और घाघरा प्रखंड में चांदनी चौक टोनका टोली व टोटांबी है. इन केंद्रों को इस प्रकार बनाया जायेगा कि एक स्कूल व स्वास्थ्य केंद्र की तर्ज पर काम करेगा. उपायुक्त शशि रंजन ने बताया कि जिले के 22 आंगनबाड़ी केंद्रों को मॉडल बनाने की प्रक्रिया शुरू कर दी गयी है.

यह भी पढ़ें: छाता बरटोली: दो साल से गांव में नहीं मिली कुपोषण की एक भी शिकायत

रूर्बन मिशन के तहत 16 आंगनबाड़ी केंद्र बनेंगे मॉडल

डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी रूर्बन मिशन योजना के तहत गुमला प्रखंड की करौंदी व तेलगांव पंचायत का चयन किया गया है. इन दोनों पंचायतों को शहरी क्षेत्र की तर्ज पर विकास करना है. इसके लिए रूर्बन मिशन के तहत दोनों पंचायतों में कई विकास के कार्य होने हैं. इसके तहत तेलगांव व करौंदी पंचायत स्थित 16 आंगनबाड़ी केंद्रों को मॉडल केंद्र के रूप में विकसित किया जायेगा. अत्याधुनिक संसाधनों के साथ-साथ प्ले स्कूल की तरह इसे विकसित किया जायेगा. आंगनबाड़ी केंद्रों की दीवारों का रंग-रोगन होगा. दीवार पर ही जानकारीपरक तस्वीरें, कहानियां, बच्चों के ज्ञान की तस्वीर, महापुरुषों की संक्षिप्त जीवनी रहेगी. इसके अलावा खेल किट भी उपलब्ध होगा. खेल के साथ-साथ बच्चों की गुणवत्तापूर्ण पढ़ाई की व्यवस्था होगी. आंगनबाड़ी केंद्र परिसर को सुंदर बनाने के लिए सुंदर फूल व पौधे भी लगाये जायेंगे. डॉ श्यामा प्रसाद रूर्बन मिशन की विशेषज्ञ गीता कुमारी ने बताया कि जिन आंगनबाड़ी केंद्रों को मॉडल बनाया जाना है, उनका चयन कर लिया गया है. जल्द ही इसका डीपीआर तैयार कर विभाग को स्वीकृति के लिए भेज दिया जायेगा. जिन आंगनबाड़ी केंद्रों का चयन किया गया है, उनमें कुंबाटोली, तेलगांव पूर्वी, तेलगांव पश्चिमी, कोनाटोली, गढ़सारु, चाहा, जोराग खास, जोराग, मुटुकडीह, तिर्रा, हंसलता, करौंदी खास, करौंदी उरांवटोली, पोटामडीह, पिथरवार टोली और चाहा अनुग्रह नगरटोली का आंगनबाड़ी केंद्र शामिल है.