gram savraj

  • Dec 14 2019 1:18PM

कनाडा डैम है मसानजोर

कनाडा डैम है मसानजोर

जिला: दुमका 

दुमका-सिउड़ी मार्ग पर मयूराक्षी नदी पर बना मसानजोर डैम एक प्रसिद्ध पिकनिक स्पॉट के साथ-साथ बेहतर पर्यटन स्थल भी है. इसे कनाडा डैम के नाम से भी जाना जाता है. 1955 में कनाडा के सहयोग से इस डैम को बनाया गया था. इस कारण इसे कनाडा डैम भी कहा जाता है. 16,650 एकड़ में फैले इस डैम की ऊंचाई 155 फीट और लंबाई 2170 फीट है. इसकी भंडारण क्षमता पांच लाख एकड़ फीट है. यहां बिजली पैदा की जाती है.

समय बीतने के साथ-साथ यह जगह पर्यटकों के लिए भी लोकप्रिय केंद्र बन गयी है. यह स्थल चारों ओर पहाड़ी एवं जंगलों से घिरा है. नीचे की पहाड़ी पर सुंदर उद्यान एवं नदी के किनारे दो खूबसूरत डाक बंगले हैं, जो इस डैम की सुंदरता में चार चांद लगा देते हैं. इस डैम में भी बोटिंग का आनंद ले सकते हैं. झारखंड समेत बिहार, बंगाल व दूसरे राज्यों से भी काफी संख्या में पर्यटक यहां पहुंचते हैं. ठहरने के लिए डाक बंगले के अलावा टूरिस्ट कॉम्प्लेक्स भी है.

एेेसे आइए

आप सड़क, रेल व वायु मार्ग से यहां पहुंच सकते हैं. यह सड़क मार्ग से झारखंड और पश्चिम बंगाल से जुड़ा हुआ है. यह दुमका जिला मुख्यालय से करीब 30 किमी और तारापीट (रामपुरहाट) से 70 किमी दूर है. दुमका रेलवे स्टेशन से करीब 30 किमी और सिउड़ी रेलवे स्टेशन से करीब 35 किलोमीटर दूर है. इसके अलावा कोलकाता के नेताजी सुभाष चंद्र बोस एयरपोर्ट से तीन सौ किलोमीटर की दूरी पर है.