ground zero

  • Jun 12 2019 1:58PM

जलस्तर गिरा, पेयजल संकट से जूझ रहे ग्रामीण

जलस्तर गिरा, पेयजल संकट से जूझ रहे ग्रामीण

श्रवण कुमार
प्रखंड: देवरी
जिला: गिरिडीह 

गिरिडीह जिले के देवरी प्रखंड अंतर्गत भेलवाघाटी पंचायत के भेलवाघाटी व टोला नबीनगर के सभी कुएं लगभग सूख चुके हैं. कुछ कुओं में नाममात्र का पानी बचा है. वहीं गांव में लगे चापाकलों से पानी निकलना भी बंद हो गया है. इस कारण यहां के लोगों को पिछले दो माह से पेयजल संकट का सामना करना पड़ रहा है. ग्रामीण सलामत अंसारी, अनवर अंसारी, मजलूम अंसारी, शहादत अंसारी, इमामुद्दीन अंसारी, इब्राहिम अंसारी, गफूर अंसारी, मकबूल मियां, अख्तर अंसारी, बासो ठाकुर, रामजी ठाकुर, जागो मुर्मू, एतवा मुर्मू, सुखदेव मुर्मू समेत अन्य ग्रामीणों ने बताया कि जलस्तर नीचे जले जाने के कारण गांव में मार्च माह से ही पेयजल की समस्या हो गयी है

अधिकारी हैं बेफिक्र
गांव के पश्चिमी छोर पर अवस्थित चिरौता नदी से पीने का पानी लाना पड़ रहा है. वहीं कई परिवारों को गड्ढे का पानी पीना पड़ रहा है. भीषण गर्मी में पानी की किल्लत से भेलवाघाटी व नबी नगर की 25,800 की आबादी को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. ग्रामीणों ने बताया कि पेयजल संकट की समस्या से अधिकारियों को अवगत कराये जाने के बाद भी समस्या से निजात दिलाने के लिए अब तक कोई पहल नहीं की गयी है. ग्रामीणों ने डीप बोरिंग कराकर पेयजल संकट से निजात दिलाने की मांग की है.

गढ्ढे के पानी से ही होता है घरेलू कार्य
ग्रामीणों के मुताबिक, भीषण गर्मी में पानी की किल्लत से निजात पाने के लिए गांव के बगल स्थित एक खेत में गड्डा खोदकर पानी की व्यवस्था करनी पड़ रही है. पानी की कमी से गड्ढा का पानी घरेलू कार्य के उपयोग में लाना पड़ रहा है. वहीं कई परिवार पेयजल के लिए भी गढ्ढे के पानी पर आश्रित हैं.

भेलवाघाटी में जलस्तर नीचे चले जाने के कारण पानी की समस्या है. पेयजल संकट को लेकर ग्रामीणों की शिकायत मिली है. पीएचइडी को उक्त समस्या को दूर करने के लिए कहा गया है.
कुमार देवेश द्विवेदी, बीडीओ, देवरी