ground zero

  • Jul 5 2019 5:07PM

घर पर चावल मिलने की खुशी

घर पर चावल मिलने की खुशी

नागेश्वर

प्रखंड: गोमिया

जिला: बाकारो

बोकारो जिला अंतर्गत गोमिया प्रखंड की चार पंचायतों में आदिम जनजाति बिरहोर परिवार रहते हैं. इन परिवारों हर महीने 35 किलोग्राम चावल उनके घर तक पहुंचाया जाता है. घर पर चावल पाकर बिरहोर परिवार के सदस्य काफी खुश हैं. इस योजना के लाभुकों का कहना है कि पहले डीलर के यहां से चावल लाते थे. इसमें कभी समय पर मिला और कभी नहीं भी मिलता था, लेकिन जब से यह योजना लागू हुई है, तब से समय पर चावल मिल जा रहा है. योजना का लाभ निर्धारित समय पर बिरहोर परिवार को लाभ मिले, इसके लिए आपूर्ति पदाधिकारी वीरेंद्र कुमार काफी गंभीर रहते हैं. कहते हैं कि हर महीने ई-पॉश मशीन से चावल की बोरी की पैकेजिंग करायी जाती है. इस काम में महिला समूह का भरपूर सहयोग मिलता है

गोमिया प्रखंड के चार पंचायतों में लाभुक की संख्या
पंचायत                लाभुक
तुलबुल                 29
कुंदा                    12
सयारी                  25
बड़की सिधावारा     17

बिरहोर परिवारों के जीवन स्तर में बदलाव लाने का प्रयास : प्रेम रंजन
बेरमो अनुमंडल पदाधिकारी प्रेम रंजन हर माह खुद इसकी मॉनिटरिंग करते हैं. कहते हैं कि बिरहोर परिवार काफी सीधे-सादे होते हैं. उनके जीवन स्तर में बदलाव लाने के लिए सरकार द्वारा कई योजनाओं का संचालन किया जा रहा है. इसमें डाकिया योजना भी एक है. इस योजना का लाभ बिरहोर परिवारों को मिले, इसके लिए सरकार कृतसंकल्पित हैं.