gound zero

  • Aug 18 2018 9:48AM

महुआ के लड्डू से आत्मनिर्भर बन रहीं महिलाएं

महुआ के लड्डू से आत्मनिर्भर बन रहीं महिलाएं

 नागेश्वर

प्रखंड : गोमिया

जिला : बोकारो


बोकारो जिला अंतर्गत गोमिया प्रखंड की संताली बहुल सियारी पंचायत के दवार ग्राम में ग्रामीणों को आत्मनिर्भर बनाने की कोशिश हो रही है. महिला समूहों के लिए दो दिवसीय खाद्य पदार्थों के उपयोग संबंधी प्रशिक्षण का आयोजन किया गया. इस अवसर पर पर्यावरण चेतना केंद्र स्वयंसेवी संस्था, जमशेदपुर के सुदर्शन भूमिज व सालगे मार्डी ने कहा कि महुआ या मड़ुआ या फिर मकई या बाजरा सर्वोत्तम पौष्टिक आहार है. यह दो कार्य करता है, एक तो इसके उपयोग से पौष्टिक आहार प्राप्त होता है, वहीं पर्यावरण को दूषित भी नहीं करता है. इस दौरान महुआ से बने लड्डू, गुड़, शरबत, आचार व टॉनिक बनाने की जानकारी ग्रामीणों को दी गयी. हजारीबाग से आये राजकुमार ने कागज से कैरी बैग व ठोंगा बनाने का प्रशिक्षण दिया. सचिव गुलाब चंद ने प्रशिक्षण से होने वाले फायदे की जानकारी दी. इसके माध्यम से ग्रामीण महिलाओं को स्वरोजगार मिलने की भी बात कही गयी. इस मौके पर उप मुखिया लालदीप सोरेन, पार्वती देवी, बबीता देवी, मंजू देवी, चांदमुनी देवी, कुंती देवी, कुर्ती देवी, मंझली देवी समेत काफी संख्या में महिलाएं शामिल हुईं.