Community reporter

  • Jan 3 2020 3:23PM

जोहार से महिलाओं के लिए आसान हुआ मछली पालन

जोहार से महिलाओं के लिए आसान हुआ मछली पालन
मत्स्य पालन का प्रशिक्षण लेतीं महिलाएं.

सावित्री देवी
प्रखंड: निरसा
जिला: धनबाद 

धनबाद जिले के निरसा प्रखंड अंतर्गत बीएमएमयू में कार्यशाला का आयोजन किया गया. इसमें नेशनल रूरल लाइवलीहुड मिशन द्वारा संचालित जोहार परियोजना के अंतर्गत मत्स्य पालन को लेकर विस्तृत जानकारी दी गयी. कार्यशाला में जोहार परियोजना के पदाधिकारी, बीपीओ, डीएमटी, मत्स्य मित्र समेत सखी मंडल की महिलाएं शामिल हुईं. कार्यशाला में महिलाओं को मत्स्य पालन के फायदे बताये गये, वहीं महिलाओं को मछली पालन करने के लिए प्रोत्साहित भी किया गया. डीएमटी कविता सिंह ने बताया कि जोहार परियोजना से जुड़ी महिलाओं को मछली पालन से अपनी जीवनशैली को बेहतर बनाने का सुनहरा मौका मिलता है.

यह भी पढ़ें: समूह की ताकत से सशक्त हो रही हैं राजंती

इस मौके को महिलाएं न गंवायें. उन्होंने कहा कि आज के जमाने में हर क्षेत्र में महिलाएं आगे बढ़ कर सफलता का परचम लहरा रही हैं. निरसा क्षेत्र की महिलाएं भी सरकार के सहयोग से जोहार का लाभ लेकर मत्स्य पालन करना चाहती हैं. मत्स्य पालन में बेहतर प्रदर्शन कर महिलाएं यह साबित करना चाहती हैं कि वो किसी भी क्षेत्र में कम नहीं हैं. इस कार्यशाला के दौरान महिलाओं को मछली पालन के साथ-साथ बीज खरीदने से लेकर इसके वितरण तक के बारे में विस्तार से बताया गया.

महिलाओं को बताया गया कि बीज वितरण से लेकर मछली को बाजार में बेचने तक की सारी प्रक्रिया महिलाएं ही करेंगी. कार्यशाला में शामिल महिलाएं मत्स्य पालन के बारे में जानकारी हासिल करने के बाद काफी खुश दिखीं. उन्होंने कहा कि वो जोहार परियोजना के तहत चल रहे और भी कार्यों को करेंगी, जिससे उनकी आमदनी बढ़ेगी और गांव-समाज में उनको पहचान मिलेगी.