Community reporter

  • Sep 14 2019 12:27PM

जलशक्ति अभियान को लेकर जागरूक हुए बच्चे

जलशक्ति अभियान को लेकर जागरूक हुए बच्चे

शबनम खातून
प्रखंड: बरवाडीह
जिला: लातेहार
लातेहार जिला अंतर्गत बरवाडीह प्रखंड के सरइडीह मध्य विद्यालय में जल शक्ति अभियान के तहत बच्चों को पर्यावरण के प्रति जागरूक किया गया. पेड़-पौधों के प्रति उन्हें संवेदनशील बनाने के लिए स्कूल में ही पौधरोपण कार्यक्रम का आयोजन किया गया. अब तो पर्यावरण संरक्षण के प्रति बेहतर पहल करते हुए स्कूल के पाठ्यक्रम में बीजारोपण व पौधों की देखरेख संबंधित नया पाठ जोड़ने पर जोर दिया जा रहा है, ताकि बच्चे बेहतर तरीके से उसे सीख सकें. सरइडीह मध्य विद्यालय के बच्चे वन विभाग के माध्यम से भी पौधरोपण और बीज की देख-रेख करना सीखेंगे. स्कूल के प्राचार्य ने बताया कि वन विभाग के सहयोग से पेड़ लगाने के लिए सभी स्कूलों में कार्यक्रम चलाया जायेगा.

यह भी पढ़ें: जल संचयन एवं जल संरक्षण के लिए कार्यशाला का आयोजन

अभियान के तहत परीक्षा में पास करने वाले सभी बच्चों को हर साल एक-एक पौधा लगाने के लिए दिया जायेगा. मौके पर अख्तर अंसारी ने बताया कि पेड़ लगाना बेहद जरूरी है. पेड़ बचाना हम सब की जिम्मेदारी है. हम सभी को अपनी इस जिम्मेदारी का निर्वहन ईमानदारी से करना होगा, ताकि बाद की पीढ़ियों को पर्यावरण संबंधित समस्याओं का सामना नहीं करना पड़े. इसके साथ जल स्त्रोत और जल का संरक्षण करना भी बेहद जरूरी है. इसके प्रति हर एक को सोचना होगा. मानव जीवन के लिए पेड़ और पानी दोनों का क्या महत्व है, इसे हम सभी को समझना होगा. अख्तर अंसारी ने बच्चों को बताया कि प्लास्टिक पर्यावरण का सबसे बड़ा दुश्मन है. पेड़ों की हो रही बेतहाशा कटाई से पर्यावरण का संतुलन बिगड़ रहा है. पेड़ की रक्षा के लिए कानून बनाये गये हैं, लेकिन जब तक हम जागरूक नहीं होंगे, तब तक सुधार नहीं होगा. इस दौरान बच्चों से प्लास्टिक का उपयोग नहीं करने की अपील भी की गयी. इस दौरान 200 फलदार पौधे तथा कुश व दूबला घास भी लगाये गये. पर्यावरण संबंधित जानकारी पाकर बच्चे काफी खुश दिखे. सभी ने पेड़ लगाने और जल संरक्षण का संकल्प लिया. इस अभियान में स्कूली बच्चों ने बढ़-चढ़ कर अपनी भागीदारी निभायी. बच्चों को जल शक्ति अभियान की भी जानकारी मिली. बच्चों ने कहा कि वो अपने घर के लोगों के साथ-साथ अपने आस-पास के लोगों को भी पर्यावरण के प्रति जागरूक करेंगे. जल और जंगल बचाने की अपील करेंगे.