badte gaao

  • May 4 2019 1:07PM

तीन साल में 17,203 गरीबों को मिला अपना आशियाना

तीन साल में 17,203 गरीबों को मिला अपना आशियाना

अमरनाथ पोद्दार
जिला: देवघर

देवघर जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में तीन वर्षों के दौरान कुल 17,203 गरीबों को आवास योजना का लाभ दिया गया. तीन वर्षों में 21,162 गरीबों के लिए आवास बनाने का लक्ष्य रखा गया था, इसमें 17,203 आवास बनकर तैयार हो गया है. शेष 3954 गरीबों का आवास नहीं बन पाया है. इन लाभुकों का आवास निर्माणाधीन है. वित्तीय वर्ष 2016-17 में 6974, 2017-18 में 5741 तथा 2018-19 में 4488 गरीबों को आवास मिला. लाभुकों का चयन सामाजिक, आर्थिक, जातीय जनगणना 2011 की सूची के अनुसार ग्रामसभा में की गयी थी. लाभुकों को आवास के साथ शौचालय भी दिया गया है.

राजेश्वर ने खुद सजाया अपने सपनों का घर
मोहनपुर प्रखंड की जमुनिया पंचायत के नवाकुरा गांव निवासी राजेश्वर राय ने कहा कि पक्का घर बनाना उनका सपना था. मजदूरी में इतनी कमाई नहीं होती है कि पक्के का घर बना सकें. आवास मिलने के बाद पक्के घर का सपना पूरा हुआ. राजेश्वर ने अपने घर की बाहरी दीवारों को खुद से ही सजाया है.

अब बन गयी काॅलोनी
मोहनपुर प्रखंड की बांक पंचायत स्थित चितरपोका गांव में गरीबों का नाम बीपीएल सूची में दर्ज नहीं रहने के कारण इन्हें अब तक पक्का मकान नहीं मिल पाया था, लेकिन एसइसीसी 2011 की सूची के अनुसार अब केवल चितरपोका गांव में दो साल के दौरान 70 गरीबों को आवास मिल चुका है. लाभुक राजेंद्र मिर्धा कहते हैं कि चितरपोका में अब झोपड़ी नहीं, बल्कि आवास की कॉलोनी तैयार हो गयी है.