badi khabar

  • Mar 16 2020 11:26AM

हम किसी से कम नहीं

हम किसी से कम नहीं

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस आठ मार्च को है.हमेशा की तरह इस दिन मातृ शक्ति की जयकार होगी. हर तरफ महिला सशक्तीकरण की गूंज होगी. गांव हो या शहर. समाज में बेहतर करने वाली महिलाएं सम्मानित होंगी. ये सुखद तस्वीर है, लेकिन ये सम्मान समारोह तभी सार्थक हैं, जब अपनी मां-बहन की तरह हम सभी हर महिला की रक्षा और सम्मान का संकल्प लेकर उसे जीवन में उतारें.घर की देहरी तक कैद रहने वाली महिलाओं की ऊंची उड़ान ये साबित कर रही है कि छोटे से गांव से भी बड़े सपने पूरे हो सकते हैं. शहर की तरह गांव की बेटियां व महिलाएं हर क्षेत्र में तरक्की की नयी कहानी लिख रही हैं. सुविधाओं का घोर अभाव, लेकिन इनकी आंखों की चमक ने तस्वीर बदल दी है. इन सबके बावजूद अभी भी कई चुनौतियां हैं, जिनके समाधान के बाद ही सही मायने में महिलाओं का सशक्तीकरण हो सकेगा. पंचायतनामा का ये अंक महिलाओं को समर्पित है.जागरूकता और एकजुटता से ग्रामीण महिलाओं का आत्मविश्वास इस कदर बढ़ गया है कि अब वे कहने लगी हैं कि हम किसी से कम नहीं.