aamukh katha

  • Jun 5 2019 3:35PM

बिन पानी सब सून

बिन पानी सब सून

पानी के बिना सब कुछ सूना है. जिंदगी की डोर पानी से बंधी हुई है. इसके बिना खुशहाल जीवन की कल्पना नहीं की जा सकती. पानी के लिए बारिश की बूंदें बेशकीमती हैं. ये हमारी खुशकिस्मती है कि झारखंड में अच्छी बारिश होती है, लेकिन जल प्रबंधन का घोर अभाव है. इस कारण बारिश की अमृततुल्य बूंदें यूं ही बहकर बर्बाद हो जाती हैं और हम हाथ पर हाथ धरे बैठे रहते हैं. हमेशा गर्मी के दिनों में जल संकट होने पर ही हमें पानी की कीमत समझ में आती है. इसके बाद भी हम चेतते नहीं हैं. वर्ष 2022 तक हर घर तक शुद्ध पेयजल पहुंचाने की कोशिश सरकार कर रही है. इस अंक के जरिये झारखंड को पानीदार बनाने के लिए लोगों को जागरूक करने का प्रयास किया गया है. आइए संकल्प लें कि बारिश की हर बूंद को सहेजकर जलस्तर बढ़ाने में अपना योगदान देंगे.