aamukh katha

  • Jul 17 2018 12:36PM

तमाय को बदल रहे मुखिया लक्ष्मण यादव

तमाय को बदल रहे मुखिया लक्ष्मण यादव

 राजेश सिंह

पंचायत : तमाय
प्रखंड : जयनगर
जिला : कोडरमा

कोडरमा के जयनगर प्रखंड की तमाय पंचायत मुखिया लक्ष्मण यादव की दूरदर्शिता से धीरे-धीरे बदल रही है. दो वर्षों में 47 लाख से अधिक की राशि से 525 शौचालय, 50 प्रधानमंत्री आवासआठ पीसीसी सड़क, दो नाली, 105 डीवीसी शौचालय, पंचायत भवन की चहारदीवारी एवं पंचायत भवन का उपस्कर समेत अन्य की खरीदारी की गयी है. पांच लाख की लागत से दो आंगनबाड़ी केंद्रों की मरम्मत करायी गयी है. पंचायत में 13 सोलर लाइट लगायी गयी है. पंचायत सचिवालय में पुस्तकालय की व्यवस्था से लोगों में खुशी है. पुस्तकालय प्रबंधन को लेकर स्कूली छात्रों को प्रशिक्षण भी दिया गया है.

पंचायत सचिवालय में हैं कई सुविधाएं
आठ राजस्व गांव वाली इस पंचायत में 12 वार्ड है. छह पीडीएस दुकान, दो प्राथमिक विद्यालय, चार मध्य विद्यालय व एक उत्क्रमित उच्च विद्यालय है. एक उप स्वास्थ्य केंद्र है. मुखिया लक्ष्मण यादव प्रत्येक माह स्कूल के शिक्षकों व सहिया, जल समिति के सदस्यों के साथ बैठक करते हैं. यह पंचायत जीरो ड्रॉप आउट है. सभी बच्चे स्कूल जाते हैं. पंचायत भवन में कंप्यूटर प्रशिक्षण, सिलाई प्रशिक्षण एवं प्रज्ञा केंद्र है. आरसेटी द्वारा स्वरोजगार का प्रशिक्षण दिलाया गया, जबकि प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के तहत युवा बेरोजगारों को प्रशिक्षण दिलाया जाता है.

पुस्तकालय का होगा दूरगामी असर : प्रतिमा उनियाल, लाइब्रेरियन
दून गर्ल्स स्कूल, देहरादून की लाइब्रेरियन प्रतिमा उनियाल कहती हैं कि पंचायत सचिवालय के पुस्तकालय के प्रबंधन को लेकर 10 स्कूली बच्चों को चार दिवसीय प्रशिक्षण दिया गया, ताकि वह इसका संचालन कर सकें. वह बताती हैं कि भविष्य की बेहतरी के लिए ज्ञान जरूरी है. ऐसे में पुस्तकालय सबसे जरूरी है, जहां लोग आकर अपने मन-पसंद की पुस्तकें पढ़ सकें. गांव-पंचायत में पुस्तकालय की ऐसी व्यवस्था का दूरगामी असर पड़ेगा.

पंचायत की बेहतरी के लिए प्रयासरत : मुखिया
मुखिया लक्ष्मण यादव कहते हैं कि युवाओं को रोजगार से जोड़ने के लिए विभिन्न ट्रेडों में प्रशिक्षण, प्रज्ञा केंद्र की सुविधा, सिलाई का प्रशिक्षण और पुस्तकालय की व्यवस्था समेत अन्य विकास कार्यों को तेजी से किया जा रहा है. पंचायत की बेहतरी के लिए शिक्षा, स्वास्थ्य समेत अन्य मामलों की वह खुद मॉनिटरिंग करते हैं.