aamukh katha

  • Aug 3 2019 3:20PM

मछली पालन : किसानों का एटीएम

मछली पालन : किसानों का एटीएम

मछली पालन यानी पानी की खेती झारखंड के किसानों के लिए एटीएम साबित हो रही है. किसानों में

बढ़ती  जागरूकता के कारण इस क्षेत्र में आत्मनिर्भरता की ओर राज्य के कदम तेजी से आगे बढ़ रहे हैं.

वित्तीय वर्ष 2018-19 में 2.08 लाख मीट्रिक टन मछलियों का उत्पादन हुआ, वहीं वित्तीय वर्ष 2019-

20 में  2.30 लाख मीट्रिक टन मछली उत्पादन का लक्ष्य निर्धारित किया गया है. छोटे तालाबों व बड़े

जलाशयों के साथ-साथ बड़ी संख्या में बनाये गये डोभों में भी मछली पालन कर किसान अपनी आमदनी

बढ़ा रहे हैं. इस अंक में राज्य में मछली पालन की स्थिति, सरकारी अनुदान, सफल किसान, सरकार की

योजनाएं एवं नये किसानों के लिए इससे जुड़ने से संबंधित जानकारी दी गयी है, ताकि किसान मछली

पालन से जुड़ कर  खुद को आत्मनिर्भर बना सकें