aadhi aabadi

  • Nov 20 2017 12:04PM

घर की देहरी नहीं लांघनेवाली दीदियां अब ला रही बदलाव

घर की देहरी नहीं लांघनेवाली दीदियां अब ला रही बदलाव
पलामू जिले के मेदिनीनगर प्रखंड अंतर्गत सुआ पंचायत की महिलाओं में जेएसएलपीएस से जुड़ने के बाद काफी बदलाव आया है. पहले उनका जीवन काफी कठिनाइयों से गुजर रहा था. अब वह आत्मनिर्भर होकर परिवार का भरण-पोषण कर रही हैं. जेएसएलपीएस के सदस्यों ने ग्रामीण महिलाओं को सरकारी योजनाओं समेत कई आवश्यक जानकारियां दीं.

इससे प्रभावित होकर धीरे-धीरे महिलाएं इससे जुड़ने लगीं. उन्हें फायदा दिखने लगा. इस तरह गांव की महिलाओं का भरोसा बढ़ने लगा. कुछ दिनों बाद कलस्टर ऑफिस का उद्घाटन किया गया. इसका नाम चियांकी आजीविका महिला संकुल संगठन रखा गया है. इस मौके पर 12 पंचायतों से बड़ी संख्या में महिलाएं उपस्थित हुईं. मुख्य अतिथि के रूप में डीपीएम, डीएफएम, डीएम, एमआईएस और मुखिया समेत अन्य ने भाग लिया. गांव की महिलाओं को प्रेरित करने के लिए आंध्रप्रदेश की टीम आयी.

इसका नेतृत्व एसआरपी दीदी राधा अम्मा और प्रभावती अम्मा ने किया. इन्होंने सप्ताह भर का आवासीय प्रशिक्षण दिया. एमआइएस अमित ने इसका विधिवत उद्घाटन किया. इस दौरान सखी मंडल की दीदियों ने मौके पर मौजूद पदाधिकारियों को फूलों का गुलदस्ता देकर स्वागत किया. दीदियों ने प्रार्थना गीत गाया. स्वास्थ्य जागरूकता की शपथ एवं बदलाव का संकल्प लिया. एमआइएम अमित ने समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि समूह की दीदियां पहले घर से बाहर नहीं निकलती थीं. अब वे वक्त के साथ कदमताल कर रही हैं. डीपीएम ने कहा कि गांवों में मूलभूत समस्याओं के समाधान का प्रयास किया जायेगा. उन्होंने कहा कि जिन गांवों में पेयजल की किल्लत है.

उन गांवों में चापाकल लगाया जायेगा. गरीब परिवारों के घरों में शौचालय बनवाये जायेंगे. मुखिया ने कहा कि अब गांव का हर बच्चा स्कूल जायेगा. बहनों को भी पूरी सुविधा दी जायेगी.16 ग्राम संगठन को मिला कर एक कलस्टर बनाया गया. इसमें अध्यक्ष, सचिव, कोषाध्यक्ष एवं लेखापाल का चयन किया गया. इस दौरान इन्हें जानकारी दी गयी कि महीने में दो बार बैठक होगी. 19 रजिस्टर लिखना है. इस क्रम में अन्य कई आवश्यक जानकारी दी गयी. 
 
प्रखंड : मेदिनीनगर
जिला : पलामू